रोहित ,कोहली , यादव और पांड्या की पिटाई के बाद इंग्लैंड की अंतिम मैच में 36 रनों से विदाई

अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में इंग्लैंड ने एक बार फिर से टॉस जीतकर सीरीज के 5वें और निर्णायक या कहे एक तरीके से फाइनल मैच में भारत को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया. बैटिंग ऑर्डर में फिर से एक बार फेरबदल करते हुए कप्तान कोहली ने जिम्मेदारी संभालते हुए ओपनिंग स्लॉट में खुद को प्रमोट किया. रोहित शर्मा पूरी सीरीज में अपनी लय में नहीं नजर आ रहे थे इस मैच में पूरे आत्मविश्वास में दिखे और शुरुआती ओवरों में ही अपने इरादे जाहिर कर दिए. तीसरे ओवर में राशिद के गेंद पर छक्का और चौथे ओवर में दो चौके लगाकर इंग्लैंड की मुश्किलें बढ़ाने वाले हैं के संकेत दे दिए.


पूरी सीरीज में आलोचना झेल रहे और आउट ऑफ फॉर्म चल रहे केएल राहुल को प्लेइंग इलेवन में जगह ना देकर टीम मैनेजमेंट ने एक फेरबदल करते हुए तेज गेंदबाज टी नटराजन को मौका देकर गेंदबाजी डिपार्टमेंट को मजबूत करने का फैसला लिया.

शुरुआती 6 ओवर में रोहित और कोहली का धमाका


पूरे सीरीज में भारतीय बल्लेबाजों का शुरू के 6 ओवर में प्रदर्शन बेहद खराब रहा था , लेकिन इस मैच में भारतीय ओपनर के मिजाज कुछ बदले बदले थे रोहित शर्मा और कप्तान कोहली ने जबरदस्त शुरुआत देते हुए 6 ओवर बगैर विकेट खोए 60 रन जुटा लिए.. जिसमें रोहित के बल्ले से तीन चौके और दो छक्के वही विराट ने भी एक चौके और एक छक्के लगाकर इंग्लैंड के लिए खतरे की घंटी बजा दी.

रोहित का अर्धशतक भारत मजबूत स्थिति में…


शुरुआती ओवरों से ही रोहित शर्मा ने इंग्लैंड के गेंदबाजों पर दबाव बनाए रखा और 30 गेंदों में अपना अर्धशतक 4 छक्कों और 3 चौकों की मदद से पूरी कर ली. भारत का स्कोर 8 ओवरों में 81 रन हो चुका था और एक बड़े स्कोर की तरफ भारत बढ़ रहा था वहीं कप्तान कोहली रोहित शर्मा का 18 गेंदों पर 20 रन बनाकर बखूबी साथ दे रहे थे. 34 गेंदों में 64 रन बनाकर रोहित शर्मा बेन स्टॉक की गेंद पर प्ले डाउन हो गए. रोहित के विकेट होने तक भारत ने 9 ओवरों में 94 रन बना लिए थे.

सूर्यकुमार यादव ने आते के साथ ही 2 छक्के जड़े..


भारतीय टीम में अपनी 100 रन 9.4 ओवरों में सूर्यकुमार यादव के छक्के से पूरी कर ली थी. रोहित के आउट होने के बाद चौथे टी20 मैच में जबरदस्त बल्लेबाजी दिखा चुके सूर्यकुमार यादव ने आते ही लगातार दो गेंदों पर 2 छक्के लगाकर इंग्लैंड की मैच में वापसी की उम्मीद को नकार दिया. भारत ने मैच में मोमेंटम बरकरार रखा और 10 ओवर की समाप्ति पर 1 विकेट के नुकसान पर 110 रन बना लिए. सूर्यकुमार यादव 17 गेंदों में 37 रन बनाकर 14वें ओवर में क्रिस जॉर्डन की बेहतरीन टीम वर्क के द्वारा जेसन रॉय के द्वारा बाउंड्री लाइन पर कैच आउट हुए.भारत का स्कोर 143/2

कोहली और पांड्या का शो भारत बड़े स्कोर की तरफ


पारी के 15 ओवर की समाप्ति पर भारत ने 2 विकेट के नुकसान पर 157 रन बना लिए थे क्रीज पर कप्तान कोहली और ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या मौजूद थे.
सीरीज के अंतिम और निर्णायक मैच में भारत स्कोर बोर्ड पर पहाड़ जैसा स्कोर खड़ा कर इंग्लैंड इंग्लैंड को बिल्कुल मैच से बाहर करने के नजरिए से विराट कोहली सीट एंकर की भूमिका में संभल संभल कर बल्लेबाजी कर रहे थे और 36 गेंदों में 50 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद थे. बीच के ओवरों में पांडेय और कोहली के बेहतरीन शॉर्ट की वजह से भारत 17 वे ओवर में दो विकेट के नुकसान पर 181 रन के स्कोर पर पहुंच चुका था. क्रीच पर विराट कोहली और हार्दिक पांड्या बड़े स्कोर की तरफ भारतीय टीम को ले जा रहे थे. 28 गेंदों पर हार्दिक और कोहली ने 50 रन की पार्टनरशिप की. 19वें ओवर के पहली दो गेंदों पर हार्दिक ने जॉर्डन की लगातार दो गेंदों पर दो छक्के जड़ ओवर में 19 रन जुटाए. कप्तान कोहली के नाबाद 52 गेंदों में 80 रन एवं पांड्या के नाबाद 17 गेंदों पर 40 रनों की बदौलत 20 ओवर की समाप्ति पर 2 विकेट के नुकसान पर 224 रन जो इंग्लैंड के खिलाफ अभी तक का टीम इंडिया का सबसे बड़ा स्कोर है खड़ा कर दिया.

पूरे मैच में इंग्लैंड के गेंदबाजों के जबरदस्त पिटाई हुई इंग्लैंड के गेंदबाजों में सबसे सफल गेंदबाज में आदिल रशीद और बेन स्टॉक रहे जिन्होंने एक एक विकेट निकाले.

225 रनों का पहाड़ इंग्लैंड के बल्लेबाज तैयार?

225 रन के बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड के बल्लेबाज पर मनोवैज्ञानिक दबाव पहले ओवर में ही देखने को मिला जब उनकी पहली विकेट जेसन रॉय के रूप में पहली ओवर में स्कोरबोर्ड पर बगैर हरकत करे गिर गई. मलान जो पूरी सीरीज में रन को तरस रहे थे निर्णायक मैच में अच्छी लय में दिखे और आते ही अच्छे शॉट दिखाएं 21 गेंदों पर 33 रन बनाकर इंग्लैंड मजबूती से भारतीय लक्ष्य का पीछा कर रहा. बटलर जो सीरीज में बेहतरीन लय में दिखे हैं इस मैच में भी 30 गेंदों पर 50 रन ठोक डाले. इंग्लैंड 11 ओवर की समाप्ति पर 125/ 1 के साथ भारत की मुश्किलें बढ़ा 225 रनों के लक्ष्य का बेहद मजबूती से पीछा कर रहा था.

17 गेंदों में बदल गया मैच


12वें ओवर में 130/1 रन के स्कोर के साथ इंग्लैंड मैच में बहुत अच्छी पकड़ के साथ रनों का पीछा करता दिख रहा था. लेकिन 12 रन के अंतराल पर 17 गेंदों पर इंग्लैंड ने 4 विकेट खो दिए. 142 पर इंग्लैंड अब 5 विकेट था और मैच में इंग्लैंड की वापसी बेहद मुश्किल नजर आ रही थी. इंग्लैंड अचानक विकेट गिरने के झटकों से निकल नहीं पाया और 225 उनके बड़े लक्ष्य के सामने 20 ओवर की समाप्ति पर 8 विकेट के नुकसान पर 188 रनों तक ही पहुंच पाया और अंततः मैच को 36 रन से हारकर सीरीज को 3-2 से गवा दिया. भारत की तरफ से सबसे सफल गेंदबाज विकटो के लिहाज से शार्दुल ठाकुर 3 विकेट रहे. मलान और जॉस बटलर इंग्लैंड के सफलतम बल्लेबाज रहे जिन्होंने क्रमशः 68 और 52 रनों की पारी खेल 130 रनों तक इंग्लैंड की उम्मीद बरकरार रखी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here