उपायुक्त एवं उप विकास आयुक्त ने संयुक्त रूप से किया जिला पुस्तकालय का निरीक्षण

शिक्षा के क्षेत्र में गुणात्मक सुधार के लिए पुस्तकालय की भूमिका अहम: डीसी

उपायुक्त नैंसी सहाय एवं उप विकास आयुक्त प्रेरणा दीक्षित ने संयुक्त रुप से शनिवार को स्थानीय कांग्रेस कार्यालय के समीप स्थित जिला केंद्रीय पुस्तकालय भवन का निरीक्षण किया। जिले के विधार्थियो को विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षाओ में बेहतर परिणाम मिले तथा उचित वातावरण में उत्कृष्ट पुस्तकों की उपलब्धता सुनिश्चित हो सके इस सकारात्मक सोच से उन्होंने बहुमूल्य निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने पुस्तकालय के पुस्तक संग्रहण, बैठने की व्यवस्था,रख रखाव, साफ सफाई, बिजली की व्यवस्था व अन्य मूलभूत सुविधाओं का जायजा लिया।

उपायुक्त ने दिए गए निर्देश..


उपायुक्त ने जिला पुस्तकालय भवन का उच्च गुणवत्तायुक्त रंग-रोगन सुनिश्चित करने, टेबल एवं कुर्सियों का संधारण, परिसर की नियमित साफ-सफाई व केंद्र से अनावश्यक सामानों को हटवाने का निर्देश दिया। उन्होंने पुस्तकालय परिसर में उचित प्रकाश की व्यवस्था सुनिश्चित करने के उद्देश्य से सोलर लाईट भी अधिष्ठापित करने हेतु प्रस्ताव तैयार कर समर्पित करने का निर्देश दिया।

पुस्तकों का समावेश जरूरी

उन्होंने कहा की जिला प्रशासन की ऐसी सोच है की शिक्षा के स्तर में गुणात्मक सुधार हो इस बाबत निःशुल्क संचालित होने वाले पुस्तकालय में हर उपयोगी पुस्तको का समावेश हो ताकि हमारे जिले के युवाओं को पुस्तक और शिक्षा के प्रति ज्यादा से ज्यादा झुकाव हो सके।

पुस्तकालय में उपायुक्तअध्ययनरत युवाओं से मिली

उन्होंने पढ़ाई के बेहतर वातावरण के लिए जिला पुस्तकालय को मॉर्डन लाइब्रेरी में परिणत करने की बात कही। जहां आधुनिक सुविधा के साथ साथ कंप्यूटर की व्यवस्था,बेहतर बुक मैनेजमेंट, विश्वस्तरीय पुस्तको की व्यवस्था, पुस्तकों का डिजिटलीकरण हों। उन्होंने इन क्षेत्रों पर जल्द कार्ययोजना बना कर अस्तित्व पर लाने को जोर दिया। अपने निरिक्षण के दौरान मौके पर अध्ययनरत युवाओं से भी उपायुक्त मिली एवम उनके पढ़ाई संबंधी बातो को सुना। उन्होंने जिला सहायक अभियंता को पुस्तकालय भवन के जरूरतों को जल्द पूर्ण करने का निर्देश दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here