तय कार्यक्रम के तहत झारखंड प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता आज हजारीबाग दौरे पर थे कोविड-19 के मद्देनज़र जिले की तैयारियों पर उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक की. जहां जिले के आला अधिकारी उपायुक्त, एसपी, सिविल सर्जन सहित अन्य पदाधिकारी गण मौजूद रहे

स्वास्थ्य मंत्री ने केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया झारखंड की अनदेखी का आरोप लगाया….

हजारीबाग: झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता स्वास्थ्य सेवाओं का जायजा लेने हजारीबाग पहुंचे. उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक में हजारीबाग के उपायुक्त जिले के एसपी, समेत अन्य अधिकारियों के साथ बैठक कर हजारीबाग की वर्तमान स्थिति व भविष्य के कार्ययोजनाओं सह संक्रमण के रोकथाम व उपचार के उपायों पर चर्चा की.

स्वास्थ्य मंत्री हजारीबाग जिला उपायुक्त जिले के एसपी एवं अन्य आला अधिकारी..

झारखंड स्वास्थ्य मंत्री केंद्र के रवैया से दिखे नाराज, बोले ताली बजाया थाली बजाया….

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने केंद्र सरकार पर झारखंड की उपेक्षा का आरोप लगाया है बताया प्रधानमंत्री के द्वारा आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में ढाई घंटे में एक बार भी प्रधानमंत्री झारखंड के विषय में किसी भी प्रकार की कोई चर्चा नहीं की … झारखंड एक पिछड़ा और आदिवासी बहुल राज्य है, सीमित संसाधन है, बावजूद इसके सरकार झारखंड की कोई सुध नहीं ले रहा. उन्होंने इस वर्तमान परिस्थिति में केंद्र सरकार पर राजनीति करने का आरोप लगाया है .

लॉक डॉउन के विषय में कहा कि झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन इस विषय पर 13 अप्रैल को फैसला लेंगे .

दीया जलाओ जैसे प्रधानमंत्री के आह्वान पर चुटकी ली कसा तंज बोले बिग बॉस के तर्ज पर दे रहे हैं टास्क

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता

बन्ना गुप्ता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दीया जलाने के आव्हान पर तंज कसते हुए कहा कि मोदी जी बिग बॉस के तर्ज पर एक के बाद एक टास्क देते जा रहें हैं जिसका कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है. यदि 9 मिनट तक बिजली बंद करने से कोरोना वायरस पर जरा सा भी प्रभाव पड़ता है तो केंद्र सरकार को पूरे 9 दिन तक पूरे देश का बिजली काट देना चाहिए. बिजली बंद करने और मोमबत्ती जलाने से कोरोनावायरस पर किसी भी प्रकार का कोई प्रभाव नहीं पड़ता है और इसका कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है. प्रधानमंत्री इस आपदा की घड़ी में भी अपना प्रचार कर रहे हैं. झारखंड के स्वास्थ सेवाओं पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि झारखंड सरकार स्थिति को काबू करने में पूरी तरह से लगी हुई है .

1 COMMENT

  1. आकस्मिक वैश्विक आपदा की घड़ी में हर एक भारतीय को नागरिक धर्म का पालन करना चाहिए।मोदी जी हों या बन्ना गुप्ता जी या और कोई इनकी मजबूरी है कि इन्हें राजधर्म और पार्टी धर्म का भी पालन करना होता है।
    भारत आज सीमित संसाधनों में बहुत अच्छा कर रहा है।आज इस बात पर हमें गर्व है कि गत 6दशक में स्थापित आरोग्य मन्दिर हमारे काम आ रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here