हजारीबाग सदर विधानसभा के विधायक मनीष जायसवाल ने झारखंड विधानसभा के माननीय अध्यक्ष को 1 मार्च को अनुरोध पत्र के माध्यम से झारखंड विधानसभा प्रक्रिया एवं कार्य संचालन नियमावली के नियम 54 के अंतर्गत सदन की कार्यवाही स्थगित कर पहले हजारीबाग केरोसिन विस्फोट की चर्चा कराने का अनुरोध किया है.

क्या है विधायक का कार्य स्थगन मांग ?

क्या लिखा है कार्य स्थगन अनुरोध पत्र में

विधायक मनीष जायसवाल ने माननीय विधानसभा अध्यक्ष को प्रेषित कार्य स्थगन अनुरोध पत्र में उल्लेख किया है कि सदर विधानसभा क्षेत्र के सदर प्रखंड के अमनारी और चुटियारी पंचायत के मरौनी कला डूंगर गांव सहित अन्य कई गांव में 9 फरवरी 10 फरवरी और 15 फरवरी को एक के बाद एक घटित हृदयविदारक केरोसिन विस्फोट की घटना में 70 वर्षीया देवंती देवी सहित सुषमा कुमारी , सविता देवी और 11 वर्षीय आयुष शर्मा काल के गाल में समा गए. वहीं 15 लोग गंभीर रूप से झुलस कर अस्पतालों में इलाजरत है. एक के बाद एक घटित केरोसिन विस्फोट की हृदय विदारक घटनाओं के लिए पूरे तौर पर जिम्मेदार जिला प्रशासन और संबंधित विभाग के पदाधिकारियों की संवेदनहीनता एवं लापरवाही है. यदि जिला प्रशासन और संबंधित विभाग के पदाधिकारियों ने समय पर संज्ञान लिया होता तो ना इतने लोग मरते और ना इतने लोग गंभीर रूप से झूलसे होते. जिला प्रशासन एवं संबंधित विभाग के पदाधिकारियों की लापरवाही अमानवीय संवेदनहीनता एवं कर्तव्य दायित्व एवं जिम्मेदारियो के निर्वहन में बरती गई घोर लापरवाही शिथिलता एवं कोताही का सूचक और घोर निंदनीय भी है .

विधायक ने क्या की है मांग…

केरोसिन विस्फोट में इलाजरत बच्चा

केरोसिन विस्फोट घटना के लिए विधायक ने सरकार जिला प्रशासन और संबंधित विभाग के पदाधिकारियों को पूरी तरह जिम्मेवार ठहराते हुए मृतकों के परिजनों को 50 – 50 लाख रुपए और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी एवं अस्पताल में इलाजरत घायल मरीजों को 25- 25 लाख रुपए और इलाज में हो रहे खर्चों का सरकारी स्तर से वहन करने सहित भविष्य में ऐसी गंभीर घटना की पुनरावृति से बचने के लिए पदाधिकारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए कड़ी से कड़ी सजा की मांग की गई है. विधायक ने माननीय विधानसभा अध्यक्ष से सदन की कार्रवाई स्थगित कर पहले हजारीबाग केरोसिन विस्फोट घटना की चर्चा कराने की अनुरोध पूर्ण मांग की है .

सार्वजनिक गलियारे में क्या चल रही चर्चा


सार्वजनिक गलियारे में हजारीबाग सदर विधानसभा के विधायक मनीष जायसवाल द्वारा चाहे किसी भी प्रयोजन में उपजी भावना को मानवीय संवेदना की उपज और अपने क्षेत्र की जनता के प्रति अपने कर्तव्य दायित्व और जिम्मेदारियों के निर्वहन के क्षेत्र में अनूठे पहल की संज्ञा दी जा रही है .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here