तमाम कोशिशों के बावजूद लगातार आ रही शिकायतों के बाद हजारीबाग जिला प्रशासन ने सख्ती दिखाते हुए एम पास की अनिवार्यता लागू कर दी है एम पास के दायरे में ही अब लोग बाहर निकल पाएंगे.

हजारीबाग: झारखंड में कोरोना मरीजों की संख्या मे कल 10 कोरोना मरीजों की अचानक आइ इजाफे के बाद झारखंड सरकार के लिए परेशानियों बढ़ा दी है, हालांकि झारखंड सरकार ने कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए बचाव हेतु 17 मई तक छूट में किसी तरह के बदलाव को खारिज करते हुए संपूर्ण राज्य में पूर्वत: लॉकडाउन रखा है.

हजारीबाग में सामाजिक दूरी का नहीं हो रहा था पालन..

हजारीबाग में तीसरे मरीज के भी कोरोना संक्रमण से मुक्त हो जाने के बाद लोग पहले की अपेक्षा कम सतर्क नजर आते दिखे, साथ ही सामाजिक दूरी जैसे अहम नियमों की अवहेलना की लगातार शिकायतें आ रही थी, खासकर शहर के व्यावसायिक क्षेत्र गोला रोड, डेल्ही मार्केट वह अन्य स्थानों से. ऐसे में कोरोनावायरस के संक्रमण के खतरे को देखते हुए जिला प्रशासन ने सख्ती दिखाते हुए एम पास को अनिवार्य कर दिया है. हजारीबाग में खरीदारी के लिए एम पास अधिकृत माध्यम होगा.

गूगल प्ले स्टोर पर बाजार एप्प में जानकारियां साझा करें और 2 घंटे के लिए पास प्राप्त करें..

किसी व्यक्ति को एम पास प्राप्त करने के लिए गूगल प्ले स्टोर पर जाकर झारखंड बाजार एप्प डाउनलोड कर अपनी व्यक्तिगत जानकारियां साझा करनी है. बायर विकल्प चुनने के बाद बाद अपना नाम, पिता का नाम, आधार, मोबाइल नंबर व अन्य संबंधित जानकारियां देकर रजिस्टर करना है. मोबाइल नंबर पर आए ओटीपी की मदद से लॉगइन करना है. सारी प्रक्रिया के बाद आप व्यक्तिगत पास के लिए रिक्वेस्ट डाल सकते हैं, सबसे अहम बात पास स्वीकृत होने की स्थिति में ही अपने आवश्यक कार्यों के लिए आप घरों से बाहर खरीदारी के लिए निकल सकते हैं जिसकी अवधि मात्र 2 घंटे की होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here