कोरोना संकट बरकरार है, सरकार एहतियातन संक्रमण से बचाव हेतु तमाम सुरक्षात्मक कदम उठा रही है. झारखंड में संक्रमण की संख्याओं में दिन-ब-दिन बढ़ोतरी हो रही है, आंकड़ा 163 तक पहुंच गया है. वैसी परिस्थिति में राज्य के हर जिले की जिम्मेदारी बनती है संक्रमण पनपने का कोई अनचाहा अंजाना अवसर ना मिल पाए इसी मद्देनजर हजारीबाग की सारी सीमाओं को सील कर दिया गया है तकरीबन 16 चेक पोस्ट के जरिए आवागमन पर विशेष नजर रखी जा रही है या कहें प्रशासनिक व्यवस्था ऐसी है कोई परिंदा भी पर ना मार सके.

हजारीबाग: कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव हेतु जिले में बाहर से आने वाले व्यक्तियों वाहनों के अनाधिकृत प्रवेश की रोकथाम एवं उन पर विशेष नजर बनाए रखने के लिए 16 चेक पोस्टों से विशेष निगरानी रखी जा रही है.

जिले के उपायुक्त एवं पुलिस अधीक्षक के आदेशानुसार..

उपायुक्त डॉ भुवनेश प्रताप सिंह एवं पुलिस अधीक्षक कार्तिक एस ने संयुक्त आदेश जारी कर 24 ×7 जिले के तमाम चेक पोस्ट पर वाहनों एवं प्रवासियों की आवाजाही पर विशेष नजर बनाए रखने के लिए-8 घंटे की तीन शिफ़्ट में दंडाधिकारियों एवं पुलिस अधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की गई है . चाक-चौबंद व्यवस्था खासकर राष्ट्रीय व राजकीय राजमार्गों पर कुल 16 चेक पोस्ट के जरिए की जा रही है.

16 चेक पोस्ट

टाटीझरिया में थाना के सामने, बड़कागांव चौक, उरीमारी चेक पोस्ट, पदमा थाना चेक पोस्ट, बरकट्ठा लेम्बुआ चौक, विष्णुगढ़ में हरिहर धाम मोड़, अरजरी मोड़ व बिष्णुगढ़ थाना के पास, कटकमदाग में पेट्रोल पंप सुल्ताना पंचायत के नजदीक, कटकमसांडी में थाना मेन रोड में, पेलावल ओपी, चूरचू में 15 माइल, डाडी में जीएम ऑफिस अरगड़ा व नई सराय के बीच, बरही में जवाहर घाटी, केरेडारी में बुकरु मोड़, चौपारण चोरदाहा चेक पोस्ट( झारखंड बिहार बॉर्डर

चेक पोस्ट पर्यवेक्षण की जिम्मेदारी थाना प्रभारी एवं प्रखंड विकास पदाधिकारी संभालेंगे वहीं अनुमंडल पुलिस अधिकारी की चेकपोस्ट से संबंधित निगरानी का अनुश्रवण करने की जिम्मेदारी होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here