सदर थाना पुलिस के हत्थे चढ़े मोबाइल चोर गिरोह सरगना सहित आठ

चोरी के 65 मोबाइल बरामद..



बच्चों को आगे कर चोरी का धंधा कर रहे थे संचालित

हजारीबाग : सदर थाना की पुलिस ने बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए मोबाइल चोर गिरोह के आठ सदस्यों को सरगना सहित धर दबोचा। इनके पास से पुलिस ने चोरी के 65 मोबाइल भी बरामद की है। गिरफ्तार आठ में छह आरोपित बालिग है और सभी साहेबगंज तीन पहाड़ के रहने वाले है। इस बाबत एक प्रेसवार्ता का आयोजन सदर थाना में किया गया। एसडीपीओ महेश प्रजापति, सदर थाना प्रभारी इंंस्पेक्टर गणेश सिंह ने संयुक्त रुप से प्रेसवार्ता कर जानकारी दी। बताया कि आरोपित पिछले छह साल से शहरी क्षेत्र में रहकर चोरी का धंधा संचालित कर रहे थे। गिरोह के लोग जिले के विभिन्न हाट बाजार सहित शहरी क्षेत्र के भीड़ भाड़ वाले इलाके में चोरी की घटना को अंजाम दे रहे थे।

गिरफ्तार आरोपितों में..

पुलिस के हत्थे चढ़े गिरफ्तार आरोपितों में कन्हैया महतो पिता स्व. मोतीलाल महतो, मुन्ना चौधरी पिता स्व.प्रेम चौधरी, आकाश महतो पिता स्व. बसंत महतो, मिठुन महतो पिता स्व.लालजी महतो, गोविंद महतो पिता मक्खन महतो व अनिल नोनिया पिता मेघु नोनिया है। एसडीपीओ ने बताया कि कन्हैया महतो गिरोह का सरगना है । गुप्त सूचना के आधार पर सरकारी बस स्टैंड में छापेमारी में मिठून महतो और अनिल नोनिया को पकड़ा गया। इनके के पास से चोरी के 10 मोबाइल बरामद किया गया। पूछताछ में गिरोह के सरगना की जानकारी दी। सरगना नूतन नगर स्थित खेमलाल साव के घर से सरगना कन्हैया महतो को गिरफ्तार किया गया। धीरे धीरे गिरोह के आठ सदस्यों को पुलिस ने पकड़ने में सफलता प्राप्त की।

सभी मोबाइलों का जांच की जा रही हैै और जांच के क्रम में पाए गए आईएमआई नंबर के आधार पर उसके मालिकों की तलाश की जा रही है।

गिरोह के सरगना को कटकमदाग थाना ने 6 माह पूर्व भेजा था जेल..

सदर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर गणेश सिंह ने बताया कि सरगना कन्हैया महतो को कटकमदाग थाना की पुलिस ने मोबाइल चोरी के आरोप में छह माह पूर्व गिरफ्तार कर जेल भेजा था। निकलने के बाद एक बार फिर यह सक्रिय हो गया। जानकारी दी कि इनके गिरोह में हर उम्र के लोग है, जिसके सहारे ये मोबाइल चोरी की घटनाओं को अंजाम देते है। पुलिस कई अन्य की तलाश कर रही है।

पुलिसिया पूछताछ में इस बात का खुलासा हुआ कि मोबाइल चोर गिरोह हजारीबाग के अलावे चतरा गिरिडीह और धनबाद में भी सक्रिय था साथ ही सिमरिया चतरा टंडवा गिरिडीह धनबाद आदि क्षेत्रों में भी चोरी का काम करते थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here