सनसनीखेज मामला हजारीबाग जिले के गोरहर थाने का है. अवैध पशु तस्करों ने आंखों में धूल झोंकने के लिए तेल टैंकर का इस्तेमाल किया था . गोरहर थाना ने कार्रवाई करते हुए मवेशियों के अवैध तस्करी में इस्तेमाल किए जा रहे डीजल टैंकर को जब्त किया साथ ही चालक और खलासी भी गिरफ्तार किए गए.

हजारीबाग: 26 /27 की रात्रि गोरहर थाना को पशुओं के अवैध तस्करी के संगीन मामले में पुलिसिया कार्रवाई में तस्करी की जा रही मवेशियों की बड़ी खेप हाथ लगी. जानकारी को बता दें तेल टैंकर में बड़ी बेरहमी से 18 मवेशियों को डाला गया था जिसे तस्कर बंगाल भेजने की फिराक में थे, तीन पशु मृत पाए गए, बचे सभी पशुओं को जप्त कर लिया गया है.

तेल टैंकर बीआर 29ई 6690

तेल टैंकर बीआर 29ई 6690 में 18 पशुओं को लादकर बिहार कैमूर से कोलकाता भेजा जा रहा था. एनएच 2 लेमबुआ चौक के समीप गश्ती दल को देखते ही तेल टैंकर चालक ने गाड़ी की गति बढ़ा दी. पुलिस ने रुकने का इशारा किया तो वाहन की बढ़ती रफ्तार ने शंका पैदा कर दी. गश्ती दल ने पीछा करते अंततः टैंकर को अपने कब्जे में ले लिया. टैंकर देखा तो पुलिस के होश उड़ गए तेल की जगह क्रूरतापूर्ण तरीके से खचाखच भरे 18 मवेशी मिले.

तेल टैंकर को कब्जे में लेकर चालक और खलासी को गिरफ्तार किया.

मौके पर पुलिस ने ट्रक का चालक जावेद अख्तर, पिता जाबिर खान व खलासी मुन्ना खान, पिता साबिर खान दोनो शेखबीघा, सोनपुर, बारुण, जिला औरंगाबाद निवासी को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया. छापामारी पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी शम्भूनन्द ईश्वर के नेतृत्व में किया गया. जिसमे दोनों के विरुद्ध गोरहर थाना कांड संख्या 11/20 धारा 414/34  भादवी, 11 डी पशु क्रूरता प्रतिषेध अधिनियम एवं 12 झारखंड गोवंशीय पशु हत्या प्रतिषेध अधिनियम 2012 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here