स्कूल से सरहद तक” मुहिम से जुड़ने की उपायुक्त ने की अपील

कक्षा 1 से 10 वर्ग के बच्चों के हाथों बने कार्ड स्वतंत्रता दिवस पर सरहद में तैनात जवानों को भेजें जायेंगे

आजादी के 75वें वर्षगांठ को अनोखे ढंग से मनाने की उपायुक्त की सोच

जिले के सभी विद्यालय के बच्चे हो सकेंगे शामिल,4 अगस्त तक बच्चो के द्वारा बने कार्ड को जिला प्रशासन को उपलब्ध कराएं

“स्कूल से सरहद तक” एक यात्रा है जिसमें देश के उज्जवल भविष्य हमारे स्कूली बच्चों का प्रेम,विश्वास और आत्मीय धन्यवाद भारत मां के वीर व अदम्य साहस के प्रतिमूर्ति हमारे सैनिकों के पास पहुंचता है। हमारे देश की रक्षा के लिए सरहदों पर डटे फौजियों के लिए नन्हें बच्चें देश के प्रति प्रेम से ओतप्रोत को प्रर्दशित करता हुआ अपने हाथों से बने सम्मान स्वरूप कार्ड बना कर भेजते हैं। यह कार्ड महज एक कागज का टुकड़ा नहीं बल्कि सरहद के जांबाज सिपाहियों के प्रति अपनी कृतज्ञता की मुहर है। इन कार्डो के चित्रों और रंगों में सीमाओं पर डटे फौजी भारत के रंगीन भविष्य की झलक देखकर आश्वस्त होते हैं।

बच्चों के हाथ बने कार्ड


बच्चों में देश प्रेम की अलख जगाने एवं गत छः वर्षों से बच्चों के हाथों बने कार्ड सैनिकों को भेजे जाने की रवायत का श्रेय हाल ही में सेवानिवृत्त हुए वरिष्ठ मुख्य कर आयुक्त अधिकारी विनय कुमार झा को जाता है। इस छोटी सी पहल को मुहिम बनाने वाले श्री झा की प्रारंभिक स्कूली शिक्षा संत जेवियर स्कूल,हजारीबाग में ही हुई है। नन्हे बच्चों के हाथों बने प्यार भरे कार्ड को पाकर हमारे वीर जवान अदम्य उत्साह से भर कर आनंदित होते हैं।

उपायुक्त नैंसी सहाय ने सभी स्कूल को पत्र लिखकर


देशप्रेम की इस बानगी को सलाम करते हुए जिला प्रशासन ने भी आजादी के अमृत महोत्सव को अनोखे ढंग से मनाने का निर्णय लिया है। उपायुक्त नैंसी सहाय ने जिले के सभी विद्यालयों को पत्र लिखकर आग्रह किया है कि वह कक्षा 1 से 10 तक के बच्चों से हमारे सरहद के जवानों को इस 15 अगस्त,अमृत महोत्सव के अवसर पर अपने देश प्रेम की झलक दिखाता हुआ कार्ड बनाकर 4 अगस्त तक जिला प्रशासन हजारीबाग को उपलब्ध करवाएं। यह कार्ड 15 अगस्त को हमारे फौजी भाइयों के हाथों में होंगे। आजादी के 75वें वर्षगांठ पर भारत के नौनिहालों की ओर से सरहद के सिपाहियों के लिए यह उपहार स्कूल से सरहद तक का सफर मील का पत्थर होगा।

साथ ही उपायुक्त ने सभी विद्यालय प्रबंधन से यह आग्रह किया है कि अपने-अपने विद्यालय के बच्चों के द्वारा तीन बेस्ट कार्ड भी चिन्हित कर भेजे। जिला प्रशासन पर उन तीन चयनित बच्चों को सम्मानित करेगा।

सदियां आयेंगी, गुजर जायेंगी
पर हम सदा रहेंगे आपके ऋणी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here