संपूर्ण लॉकडाउन की संभावनाओं को किया खारिज

नेताओं की घर वापसी मुश्किल

एक व्यक्ति एक पद ,ऐसा लिखित नहीं

रांची: झारखंड में कोरोना संक्रमित आंकड़े बढ़कर 12000 के पार कर गए हैं, वहीं संक्रमण की चपेट से 117 लोगों की जान भी जा चुकी है. इस बाबत चर्चाओं का दौर जारी है , राज्य में संक्रमण सुरक्षार्थ संपूर्ण लॉकडाउन लगाने की बात चल रही थी. लेकिन झारखंड सरकार में वित्त मंत्री सह प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रामेश्वर उरांव ने लॉकडाउन की संभावनाओं को खारिज करते हुए जीवन और जीविका का संदर्भ दिया है. मंत्री रामेश्वर उरांव का कहना है संपूर्ण लॉकडाउन से जिंदगी तो बच जाएंगी लेकिन जीविका खत्म हो जाएगी. वही उनका यह भी मानना है प्रवासी मजदूरों एवं बिहार की वजह से संक्रमित आंकड़ा बढ़ा.

वापसी मुश्किल ,करना होगा 6 साल इंतजार

प्रदीप बलमुचू एवं सुखदेव भगत के घर वापसी के सवाल पर , संभावनाओं को भी नकार दिया है जहां घर वापसी की राह आसान हो उनका कहना है फिलहाल है 6 साल तक घर वापसी का इंतजार करना होगा.

एक व्यक्ति एक पद

दूसरी तरफ प्रदेश में एक व्यक्ति एक पद का मुद्दा भी गरमाया हुआ है, ताजा प्रकरण अभी हाल में ही देखने को मिला जब कांग्रेस के कुछ विधायक सरकार के प्रति अपनी नाराजगी जताते दिखे थे, कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी ने इशारों इशारों में ही सारी बातें कह दी थी. एक व्यक्ति एक पद के सवाल पर वित्त मंत्री ने कहा ऐसा कुछ लिखित नहीं है, यह परंपरा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here