राज्यसभा में 26 मार्च को अप्रैल में रिक्त हो रहे 17 राज्यों के 55 सीटों पर चुनाव होंगे. इस संदर्भ में निर्वाचन आयोग ने घोषणा कर दी है.. 6 मार्च से नामांकन प्रक्रिया शुरू होगी. नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख 13 मार्च है. 16 मार्च स्क्रुटनी. नामांकन वापस करने की आखिरी तारीख 18 मार्च होगी. वोटिंग का समय 26 मार्च सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक का है. चुनाव खत्म होने के करीब 1 घंटे के बाद 26 मार्च को ही शाम में ही मतगणना की जाएगी.. ये सारी घोषणाएं चुनाव आयोग ने मंगलवार को की है.

17 राज्यों से चुने गए राज्यसभा सदस्यों का कार्यकाल अप्रैल में समाप्त हो रहा है कार्यकाल पूरा कर रहे कुछ प्रमुख सदस्यों के नाम. ..

उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोतीलाल वोरा, आरपीआई के रामदास अठावले, कांग्रेस से दिग्विजय सिंह, डॉक्टर संजय सिंह, कुमारी शैलजा, भाजपा के पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय गोयल, प्रेमचंद गुप्ता, केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी

17 राज्यों में सीटों की स्थिति

महाराष्ट्र 7 तमिलनाडु 6 पश्चिम बंगाल 5 बिहार 5 आंध्र प्रदेश 4 उड़ीसा 4 गुजरात 4 असम 3 मध्य प्रदेश 3 राजस्थान 3 तेलंगना 2 छत्तीसगढ़ 2 हरियाणा 2 झारखंड 2 हिमाचल 1 मणिपुर 1 मेघालय 1

बीजेपी की बढ़ेगी मुश्किलें बहुमत से दूर ही रहेगी

2018-19 में हुए विधानसभा चुनाव का असर साफ तौर पर राज्यसभा चुनाव पर दिखेगा राज्य विधानसभा में बन रहे समीकरण बीजेपी के लिए कुछ अच्छे नहीं दिख रहे हैं. जिस तरीके से बीजेपी को कुछ राज्यों में हार का सामना करना पड़ा है.. स्वाभाविक तौर पर इसका असर राज्य सभा के 2 वर्षीय चुनाव परिणाम पर पड़ेगा. जबकि कांग्रेस और उसके सहयोगियों की स्थिति में कुछ सुधार की गुंजाइश है.. 245 सदस्यीय राज्यसभा में बहुमत के लिए 123 सदस्यों की आवश्यकता होती है. वहां एनडीए के पास राज्यसभा में कुल 106 संख्या बल है जिसमें भाजपा की संख्या 82 है. वर्तमान में कांग्रेस व उनके सहयोगियों के सदस्यों की संख्या राज्यसभा में 45 है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here