राजधानी रांची के एक निजी अस्पताल में इलाजरत मृतक मरीज के परिजन ने सैमफोर्ड अस्पताल पर किडनी निकाल लेने का गंभीर आरोप लगाया है. मामले को लेकर परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा मचाया फिलहाल शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है जांच रिपोर्ट के उपरांत ही मामले का खुलासा हो पाएगा.

आपको बता दें हजारीबाग सुल्ताना में सड़क दुर्घटना के दौरान इलाजरत मरीज के सर में गंभीर चोट आई थी. बेहतर इलाज के लिए घायल अवस्था में व्यक्ति को रांची कोकर स्थित सैम्फोर्ड अस्पताल में भर्ती कराया गया था. ब्रेन हेमरेज की आशंका के तहत 18 सितंबर को अस्पताल में मरीज का इलाज चल रहा था मगर दुर्भाग्यवश इलाज के दौरान ही मरीज की मृत्यु हो गई. मृतक के शव को लेने जब परिजन अस्पताल पहुंचे तो परिजनों को शक हुआ खासकर तब पोस्टमार्टम के बाद उन्हें शव सौंपने की बात कही गई. इसी दौरान मृतक के पेट पर चीरा लगा दिखा तो परिजनों ने अस्पताल में हंगामा शुरू कर दिया , किडनी निकाल लिए जाने के कयास लगाए जाने लगे परिजनों ने अस्पताल में किडनी रैकेट होने का गंभीर आरोप लगाया. मृतक के परिजनों का आरोप है जब समस्या सर में थी चोट सर पर लगी थी तो पेट में चीरा क्यों लगाया गया वह भी बगैर मृतक के परिजनों को जानकारी दिए बगैर.

अस्पताल ने इलाज के नाम पर लूट मचा रखा है..

आपको बता दें परिजनों ने इलाज के नाम पर अस्पताल पर लूट मचाने का आरोप भी लगाया है 36 घंटे के इलाज के दौरान मरीज के 4,60000 के बिल बना दिए गए. गंभीर मामले पर फिलहाल पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार पुलिस भी कर रही है. जांच रिपोर्ट आने के उपरांत ही मामले का खुलासा हो पाएगा, मिल रही जानकारियों के मुताबिक फिलहाल अस्पताल प्रबंधन ने इस मामले में अपना पक्ष नहीं रखा है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here