मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने हरी झंडी दिखाकर झारखंड के दुमका से श्रमिकों को लेह के लिए किया रवाना.

तय कार्यक्रम के तहत झारखंड सरकार ने रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के प्रयास की शुरुआत के तहत आज देवघर से 1500 झारखंड श्रमिकों का जत्था स्पेशल ट्रेन के माध्यम से लेह लिए किया रवाना. खास मौके पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने हरी झंडी दिखाकर ट्रेन को किया रवाना. 

प्रवासी मजदूरों के लिए मुख्यमंत्री दिखा रहे हैं प्रतिबद्धता

मुख्यमंत्री ने श्रमिकों को लेह के लिए रवाना करने से पूर्व कहा श्रमिकों, किसानों के प्रति सरकार संवेदनशील. आनेवाले समय में व्यवस्थाएं इन्हें समर्पित होंगी. कोई किसान, श्रमिक नहीं मरेगा, इसके लिए मुझे ही क्यों न अपनी जान देनी पड़े. नमन आप श्रमिकों को.

श्रमिक सीमा सड़क संगठन बीआरओ के लिए काम करेंगे

झारखंड के श्रमिक चीन की सीमा पर सड़क का जाल बिछाएंगे आपको बता दे दुमका से लेह लद्दाख के लिए स्पेशल ट्रेन से जाने वाले श्रमिक सीमा सड़क संगठन बीआरओ के लिए काम करेंगे. आधारभूत संरचनाओं की बेहतरी और ढांचागत सुधार के लिए बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन देश के सीमावर्ती क्षेत्रों में काम करती है.

मजदूरों के हितों का रखा जा रहा है ध्यान

झारखंड सरकार द्वारा प्रवासी मजदूरों को रोजगार दिलाने की पहल में सकारात्मक प्रयास माना जा रहा है बेहद चुनौतीपूर्ण स्थितियों में मजदूरों को सड़क निर्माण का कार्य करना है ऐसे मे मजदूरों के हितों की तमाम बातों का ध्यान रखा गया है. सरकार के साथ मजदूरों के हितों के लिए एकरारनामा की बात हो या श्रमिकों के वेतन का सीधे मजदूरों के खातों में आने की बात हो .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here