महाराष्ट्र में चूक झारखंड में मिली हार के बाद बंगाल में कोई कसर नहीं रखना चाहते भाजपा अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह. चुनावी रणनीति में माहिर राज्यों के हिसाब से चुनावी रणनीति तय करते हैं . महाराष्ट्र, हरियाणा चुनाव के कसक के बाद..बंगाल की चुनावी रणनीति का कमान अमित शाह अपने हाथ में रखना चाहते हैं. चुनावी रणनीति बनाने में भाषा बाधा न बने इसके लिए अमित शाह बांग्ला भाषा सीख रहे हैं.

भाजपा मिशन 250 लेकर बंगाल में चुनाव प्रचार में उतरने वाली है

तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी के मुकाबले बंगाल भाजपा खेमे में मजबूत नेतृत्व नहीं है. इसे देखते हुए अमित शाह बांग्ला सीख रहे हैं बेहतर संवाद और प्रभावी भाषणों के लिए

फिलहाल बंगाल विधानसभा चुनाव में अभी एक साल का वक्त है तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी लोकसभा चुनाव के बाद से ही अपनी चुनावी तैयारियों में जुटी हैं भाजपा भी चुनावी रणनीति के तहत कोई कमी नहीं रखना चाहती

ममता बनर्जी अपनी सभाओं में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को बाहरी होने का ताना देती रही हैं. ममता के बाहरी वाले संबोधन का उसी भाषा में जवाब दे सकें.. अमित शाह बांग्ला भाषा को अपना रहे हैं, सीख रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here