बिहार हाजीपुर से एक सनसनीखेज खबर आई है, जहां सत्तारूढ़ पार्टी जदयू के एक नेता हथियारों के जखीरे के साथ पकड़े गए हैं .कुख्यात चंदन सिंह के घर एसटीएफ और वैशाली पुलिस की संयुक्त छापेमारी में तीन अपराधियों को गिरफ्तार किया है वहीं जदयू नेता भी मौके वारदात पर पकड़े गए. मिली जानकारी के मुताबिक चंदन सिंह समेत कुछ अपराधी घटनास्थल से भागने में सफल रहे हैं गुप्त सूचना पर मारे गए छापेमारी में 10 अवैध हथियार 80 जिंदा कारतूस  300 खाली कारतूस दो वॉकी टॉकी और  कई प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक सामान जप्त किए गए

जिले के एसपी गौरव मंगला के मुताबिक  कुख्यात चंदन कई मामलों में  आरोपी है. चंदन सिंह के घर से गिरफ्तार  अमरनाथ सिंह और राणा सिंह  के भी अपराधिक इतिहास रहे हैं. छापेमारी में जदयू नेता पुलिस के हत्थे चढ़ा नाम अमरदीप फूलन बताया जा रहा है जो सत्तारूढ़ पार्टी जदयू से जुड़ा है सबसे बड़ी बात अमरदीप फूलन जदयू कमलजीवी  प्रकोष्ठ का राज्य सचिव है. पूरे मामले में हथियार सप्लाई किए जाने के भी संकेत मिल रहे हैं.

गैंगवार की थी आशंका ..

चंदन सिंह के बड़े भाई सुशील सिंह की हत्या गोली मारकर कर दी गई थी. जिसमें अनु सिंह गैंग के शामिल होने की बात कही जा रही थी. हाजीपुर कारामंडल में बंद कुख्यात अनु सिंह एक समय चंदन सिंह का जिगरी था लेकिन जयपुर सोना लूट कांड के बाद बंटवारे से उत्पन्न विवाद में 1 साल पहले चंदन सिंह के बड़े भाई सुशील सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. उसके बाद दोनों गुटों की अदावत किसी से छुपी नहीं.

पुलिस अधीक्षक के मुताबिक कुख्यात चंदन सिंह के घर हथियारों का जखीरा होने की सूचना थी, प्राप्त सूचना के आधार पर पटना एसटीएफ के साथ संयुक्त अभियान के तहत चंदन सिंह की गिरफ्तारी के लिए जाल बिछाया गया था .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here