फायरिंग की वजह से छठ घाट पर मच गई अफरा-तफरी

हजारीबाग मेडिकल कॉलेज में चिकित्सकों ने कारोबारी को मृत घोषित किया

पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाकर माओवादियों ने मार दी गोली

चतरा: झारखंड में लगातार बढ़ रहे नक्सल घटनाओं के बीच एक और दुर्भाग्यपूर्ण घटना आज छठ के सुबह अर्घ्य देने के दौरान घट गई ,जहां माओवादियों द्वारा एक कोयला कारोबारी की गोली मारकर हत्या कर दी गई. घटना चतरा जिले के पत्थलगड़ा थाना क्षेत्र स्थित सिनपुर डैम में घटित हुई है. छठ पूजा के सुबह शनिवार अर्घ्य देने के दौरान नक्सलियों ने घटना को अंजाम दिया गोली चलने की आवाज के वजह से घाट पर माहौल अफरा-तफरी का हो गया. वारदात की खबर मिलते ही सिमरिया SDPO बचन देव कुजूर, पत्थलगड़ा थाना प्रभारी निरंजन मिश्रा घटनास्थल पर पहुंचे. मौके वारदात से पुलिस को इंसास की तीन गोलियां की खोखे और नक्सल पर्चा मिला है. माओवादी घटना के शिकार मृतक व्यक्ति की पहचान मुकेश गिरी के रूप में हुई है. घटना की जिम्मेदारी भाकपा माओवादी ने ली है और हत्या के लिए पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाकर वारदात को को अंजाम दिया गया.

एक दर्जन भाकपा माओवादी छठ घाट पर पहुंचकर दिया घटना को अंजाम , हजारीबाग मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया जहां डॉक्टरों ने किया मृत घोषित

आ रही खबरों के मुताबिक तकरीबन एक दर्जन भाकपा माओवादी छठ घाट पर पहुंचे थे ,काले वर्दी में हथियार के साथ आए माओवादी घाट पर मौजूद लोगों की लाठी-डंडों से पिटाई शुरू कर दी और वहीं सिनपुर डैम पर मौजूद मुकेश गिरी को अपने कब्जे में ले लिया , कोयला कारोबारी की मार पिटाई के बाद इंसास राइफल से तीन गोली मारी गई , खबरों के मुताबिक तापस निवासी कोयला कारोबारी घायल अवस्था में बेहतर इलाज के लिए सिमरिया रेफरल अस्पताल लाए गए ,बिगड़ते हालात को देखते हुए उन्हें हजारीबाग मेडिकल कॉलेज अस्पताल के लिए रेफर किया गया जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here