कोरोना त्रासदी में पुलिस विभाग की भूमिका अतुलनीय है. खासकर संक्रमित जानलेवा बीमारी जहां बचने के विकल्प लॉक डाउन के दिशा निर्देश का पालन और सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर व्यवहारिक बदलाव अगर संभव हो पाया तो वहां पुलिस विभाग की सतर्कता व सक्रियता अभूतपूर्व रही. आज भारत विश्व के अन्य देशों से कोरोना के प्रभाव में अगर कमतर है, बेहतर है तो पुलिस विभाग का इस संबंध में निरंतर प्रयास, जागरूकता को लेकर अनोखे नए नवेले प्रयोग; जैसे कभी यमराज बनना , गाना गाना.. और ऐसे ही प्रभावी प्रयास देश के अलग-अलग जगहों पर 24 * 7 चल ही रहा है. झारखंड पुलिस महकमा इसी क्रम में आज संवेदनशील माने जाने वाले बिहार झारखंड की सीमा से लगा चोरदाहा चेक पोस्ट पहुंचा, राज्य के पुलिस प्रमुख एमवी राव बारीकी से हर संभावनाएं चुनौतियां परख रहे थे, मकसद कोरोना संक्रमण के मद्देनजर स्थितियों का जायजा लेना एवं तमाम एहतियाती दिशानिर्देशों का पालन करवाना था.

राज्य के पुलिस महानिदेशक  डीआईजी, एसपी, डीएसपी के साथ लॉक डाउन का ले रहे थे जायजा
वाहनों का हुआ जांच, दिए गए आवश्यक दिशा निर्देश.
आवश्यक सामग्री लदे वाहनों को जाने की मिली छूट.
पुलिस जवानों का बढाया मनोबल, कहा जारी रखें मेहनत.


हजारीबाग/ चौपारण/ चोरदाहा: वैश्विक महामारी कोरोना के खिलाफ जारी संघर्ष में पुलिस फ्रंटलाईन पर आकर श्रेष्ठ सेवा देने को तत्पर है. झारखंड में भी पुलिस ने आपदा से निपटने में बेहतर कार्य किया है, आपदा की इस विषम परिस्थिति में अंतर राज्यीय सीमा की वास्तविक स्थिति, समस्या व पुलिस जवानों के मनोबल को बढाने के ध्येय से पुलिस तंत्र का सबसे बडा कुनबा देर शाम झारखंड बिहार सीमा पर स्थित चोरदाहा चेकपोस्ट पहुंचा.

डीजीपी स्वयं करने लगे वाहनों की जांच तो कभी की राहगीरों से बात, सोशल डिस्टेंसिंग की अनिवार्यता पर दी सलाह, वहीं बिहार सीमा पर तैनात जवानों का भी पूछ लिया हाल चाल

डीजीपी, साथ में हैं डीआईजी, एसपी एवं डीएसपी

राज्य के पुलिस प्रमुख एमवी राव के साथ डीआईजी पंकज कंबोज, एस पी मयूर पटेल, डीएसपी मनीष कुमार आदि ने लगभग चालीस मिनट तक चोरदाहा चेकपोस्ट की स्थिति व बिहार सीमा पर मौजुद राहगीरों से बात की. इस दौरान डीजीपी ने स्वंय जीटी रोड पर चल रहे वाहनों की जांच की. मौजुद जवानों के मनोबल को बढाया तथा लॉक डाउन की अवधि तक पूरी सतर्कता, सामाजिक दूरी का अनुपालन कर काम करने की सलाह दी. उन्होंने चेकपोस्ट पर तैनात जवानों को लॉक डाउन अवधि के दौरान जारी सरकारी निर्देश के अनुपालन का निर्देश भी दिया. आवश्यक सामग्री लगे वाहनों को छोडने, राहगीरों से व्यवहार कुशल होने की बात कही. राज्य के डीजीपी झारखंड सीमा पर बिहार जाने के लिए बैठे राहगीरों से बात की.साथ ही बिहार पुलिस चौकी पर तैनात जवानों के भी हाल-चाल लिए और कहा कि राहगीरों को अनावश्यक तंग ना करें. यदि लोग राज्य सीमा में प्रवेश करते हैं तो क्वॉरेंटाइन सेंटर भेजने की बात कही. सारी बातें अहम इसलिए भी हो जाती है कि देश की लाईफ लाईन जीटी रोड के माध्यम से हर दिन बडी संख्या में लोग सीमा में प्रवेश कर रही है.

डीजीपी के उत्साह ने जवानों के हौसले बढ़ाएं..


जानकारी हो कि कोविड 19 चौपारण को रेड जोन के रुप में चिन्हित किया गया है. प्रखंड की कुल आबादी दो लाख व भौगोलिक रुप बड़ा विस्तृत क्षेत्र के कारण पुलिस को लॉक डाउन अनुपालन में दिन रात मशक्कत करनी पड़ती है . बहरहाल डीजीपी के मुख से जवानों के उत्साहवर्धन के बाद सीमा पर कायर्रत जवानों के हौसले बुलंद हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here