पिछले 24 घंटे से चल रहे सियासी उठापटक के बाद आखिरकार कांग्रेस के कद्दावर नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस से अपना इस्तीफा दे दिया. वहीं ज्योतिरादित्य का भाजपा में शामिल होना लगभग तय माना जा रहा है. सिंधिया के इस्तीफे के बाद 19 कांग्रेस विधायकों ने भी अपना इस्तीफा दे दिया. आंकड़ों के समीकरण के हिसाब से कमलनाथ की सरकार का भी जाना तय माना जा रहा है


नई दिल्ली: मध्य प्रदेश की राजनीति में भूचाल आ गया जब कांग्रेस के कद्दावर नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सियासी उठापटक के बीच आखिरकार कांग्रेस के प्राथमिक सदस्यता से अपना इस्तीफा दे दिया. इस्तीफे की चिट्ठी आज 12:10 पर ट्वीट कर दी … हालांकि चिट्ठी में 9 मार्च के तारीख अंकित है.

ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस्तीफे के बाद सिंधिया खेमे के बेंगलुरु में मौजूद 19 विधायकों ने भी अपना इस्तीफा ईमेल के जरिए विधानसभा अध्यक्ष को दे दिया….

19 विधायक अपने इस्तीफे के साथ (सूत्र ए एन आई)

खबर लिखे जाने तक सिंधिया सहित 21 विधायकों ने अपना इस्तीफा दे दिया है विधायकों के इस्तीफे से कमलनाथ की सरकार पर संकट के बादल गहरा गए हैं अगर इस्तीफे स्वीकार हो जाते हैं वैसी परिस्थिति में मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार अल्पमत में आ जाएगी.

विधायको के इस्तीफे और उसे स्वीकार करने के बाद कैसे बदल जाएंगे मध्य प्रदेश के समीकरण…


मध्यप्रदेश में विधानसभा की कुल सीटें 230, 2 विधायकों की मृत्यु से 228. 21 विधायकों के इस्तीफे के बाद 207. बहुमत के लिए जरूरी सीटें 104 भाजपा 107, वहीं कांग्रेस की संख्या बल 100 हो जाती है.


ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इस्तीफे की चिट्ठी में क्या लिखा है.

डियर मिसेज गांधी, मैं पिछले 18 वर्षों से कांग्रेस पार्टी का प्राथमिक सदस्य हूं.अब वक्त हा गया मुझे नई शुरुआत के साथ आगे बढ़ना चाहिए. मैं भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से अपना इस्तीफा दे रहा हूं और जैसा कि आप जानती हैं, यह वह रास्ता है, जो पिछले वर्ष खुद बनना शुरू हो गया था. हालांकि, जन सेवा का मेरा लक्ष्य उसी तरह का बना रहेगा, जो शुरुआत से ही हमेशा रहा है, मैं अपने प्रदेश और देश के लोगों की उसी तरह से सेवा करता रहूंगा.मुझे लगता है कि मैं आगे यह काम इस पार्टी में रहकर नहीं कर पाऊंगा . अपने लोगों और अपने कार्यकर्ताओं की भावनाओं को प्रदर्शित करने और उसे जाहिर करने के लिए, मुझे लगता है कि यह सबसे अच्छा होगा कि मैं आगे की ओर देखूं और एक नई शुरुआत करूं.मुझे देश सेवा के लिए एक मंच प्रदान करने के लिए मैं आपको बहुत धन्यवाद देता हूं और आपके माध्यम से कांग्रेस पार्टी के मेरे साथियों को भी धन्यवाद देता हूं.
सादर, आपका ज्योतिरादित्य सिंधिया

मध्य प्रदेश की राजनीति में हलचल तेज हो गई है शिवराज सिंह चौहान सक्रिय भूमिका में नजर आ रहे हैं. खबरों की माने तो ज्योतिरादित्य सिंधिया को भाजपा में शामिल करा राज्यसभा भेज मंत्री बनाया जा सकता है...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here