सावधान : अब साइबर अपराधियों के रडार पर शिक्षक समुदाय ,,चतरा के एसपी और डीईओ ने किया शिक्षकों को अलर्ट

सरकार और तंत्र के लाख प्रशासनिक एवं तकनीकी प्रयास के बाद भी साइबर क्राइम थमने का नाम नहीं ले रहा है . उल्टे बढ़ता ही जा रहा है .साइबर अपराधी लोगों को धोके में डाल व भरमाकर बैंक खातों से उनके पैसे उड़ाने के लिए नई नई तकनीक का इजाद कर रहे हैं .
साइबर क्राइम का दायरा में भी विस्तार कर रहे हैं . बड़ी विडंबना है कि रोज साइबर क्राइम के मामले प्रकाश में आ रहा है . विभिन्न श्रेणी के दर्जनों लोग साइबर क्राइम के शिकार हो रहे हैं . प्रशासन पुलिस इन्हें साइबर अपराधी के झांसे में नहीं आने के लिए लगातार सचेत , अगाह कर रही है, फिर भी बैंक खाताधारी की कुम्भकर्णी नींद नही खुल रही है और दुर्भाग्य है कि साइबर अपराधियों के तिलिस्म से बैंक खाता धारी संभल या बच नहीं पा रहे है .

अब साइबर अपराधियों के रडार पर शिक्षक समुदाय

साइबर अपराधियों ने अब शिक्षक समुदाय को अपने निशाने पर लिया है . शिक्षकों के बैंक खातों में मोटी रकम रहती है . साइबर अपराधियों ने शिक्षकों के बैंक खातों से रुपया उड़ाने के लिए एक नई तकनीक का इजाद किया है . साइबर अपराधी डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के नाम पर जानकारी साझा करने के लिए कहते हैं और बैंक खाता नंबर आधार नंबर एटीएम पिन कोड नंबर सभी हासिल कर खाते से पैसा उड़ा ले रहे हैं .

चतरा में सामने आया साइबर ठगी से जुड़ा एक ऑडियो

हाल फिलहाल ही चतरा में साइबर ठगी से जुड़ा एक ऑडियो सामने आया है जिसमें अनजान व्यक्ति ने एक शिक्षक को कॉल कर खुद को शिक्षा विभाग का कर्मी बताते हुए डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के नाम पर उक्त जानकारियां साझा करने को कहा सौभाग्य रहा कि शिक्षक का विवेक समय पर काम आया और बुद्धिमता का परिचय देते हुए और अनजान कॉल करने वाले व्यक्ति की मंशा को भागते हुए उसके काल को काट दिया.
. विभागीय पदाधिकारी से पता लगाने पर मालूम हुआ कि डॉक्युमेंट वेरीफिकेशन के नाम पर विभागीय कर्मी द्वारा ऐसा कोई कॉल नहीं किया जा रहा है .

एसपी और डीईओ ने जारी किया अलर्ट

जिला शिक्षा पदाधिकारी जितेंद्र सिन्हा ने शिक्षक समुदाय को अलर्ट किया है कि शिक्षा विभाग द्वारा शिक्षकों के डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के नाम पर ऐसा कोई भी कॉल विभागीय कर्मी द्वारा नहीं किया जा रहा है . शिक्षक ऐसे किसी भी कॉल पर अपनी निजी जानकारी साझा नहीं करें . साइबर ठगों ने ठगी करने का यह नया तरीका ईजाद किया है .राज्य के विभिन्न जिलों में इस नई तकनीक से ठगी की वारदात को अंजाम देने का प्रयास) जारी है .साइबर अपराध डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के नाम पर आपको विश्वास में लेकर आपसे सारी जानकारी हासिल करते हुए आपके बैंक खाते से सारे रुपए निकाल लेंगे . शिक्षक समुदाय को आगाह किया है कि अनजान कॉल पर शिक्षक अपनी निजी जानकारी साधा नहीं करें .

एसपी ने जारी किया कंट्रोल रूम नंबर

चतरा में पदस्थापन के अपने अल्पावधि में ही अपराध नियंत्रण में चर्चित एवं सुर्खियां बटोरे कप्तान ऋषभ कुमार झा ने इसे गंभीरता से लिया है और कहा है कि इस प्रकार के कॉल पर पुलिस की पैनी नजर है .इस प्रकार की ठगी की घटना को अंजाम देने की मंशा रखने वाले साइबर ठगों के गिरोह को किसी भी हाल में बख्शा नहीं जाएगा . जरूरत केवल बैंक खाता धारियों को अनजान कल से सतर्क सावधान रहने की और अनजान कॉल मिलने पर इसकी तत्काल सूचना कंट्रोल रूम के नंबरों 620 72 73 658 / 100 पर कॉल कर उपलब्ध कराने की है ,ताकि पुलिस मामले की गहन जांच पड़ताल कर साइबर ठगी का पर्दाफाश कर सके .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here