सुधर जाओ ! नहीं तो कानून के डंडे और जेल की हवा खाओ जरूरत पड़ी तो मारे भी जाओ , उग्रवाद और अफीम तस्करी प्रभावित चतरा जिला के नव पदस्थापित सिंघम एसपी ऋषभ कुमार झा का अफीम तस्करों और उग्रवादियों अपराधियों के नाम खुला ऐलान.

चतरा: 2016 बैच के आईपीएस और चतरा के नव पदस्थापित एसपी ऋषभ कुमार झा ने अपने सहकर्मियों के साथ पहली औपचारिक बैठक में अपनी मंशा जाहिर कर दी है .उन्होंने खुले शब्द में कहा है कि कर्तव्य , दायित्व व जिम्मेदारियों के निर्वहन में हुई छोटी भूल तो नजरअंदाज किया जा सकता है , किंतु अफीम ,शराब तस्करी , उग्रवादी अपराधी गतिविधियों व क्रियाकलापों पर लगाम लगाने में किसी भी प्रकार की परिलक्षित शिथिलता ,कोताही ,लापरवाही व संदिग्ध आचरण कभी व किसी भी हाल में काबिले बर्दाश्त नहीं होगा .इसके विरुद्ध कड़ी कानूनी व विभागीय कार्रवाई होना तयशुदा है .साथ ही इसके साथ कोई भी समझौता मान्य नहीं होगा . इससे विशेष रूप से थानों में कुर्सी जमाई अधिकारियों की मनोदशा रैन बिना चैन कहां की बन गई है .

असामाजिक तत्वों के खिलाफ खुला ऐलान; सुधर जाओ..

दूसरी ओर तस्करी ,उग्रवाद और अपराध प्रभावित चतरा जिला के तस्करों उग्रवादियों और अपराधियों के नाम भी खुला ऐलान किया है .यह कि वक्त है सुधर जाओ ! नहीं तो कानूनी डंडे और जेल के शिकंजों की हवा खाओ व जरूरी हुआ तो मारे भी जाओ ने भी अपराध जगत में भारी हड़कंप व तहलका मचा
दिया है .अंदरखाने से छनकर आती खबरों के मुताबिक एसपी के इस तल्ख तेवर व एलानिया बयान के तुरत बाद इसके विरुद्ध चालू आक्रामक सघन अभियान ने तस्करों ,उग्रवादियों,माफियाओं और अपराधियों सहित सारे अराजक व असामाजिक तत्वों की नींद उड़ा दी है .इन तत्वों में भारी खलबली मच गई .हड़कंप का आलम बन गया है । अपने खैर के लिए सुरक्षित मांद की तलाश में जुट गए है .सिंघम एसपी के नेतृत्व में इन अराजक असामाजिक तत्वों के खिलाफ चल रहे सघन अभियान में लगातार मिल रही सफलता का ग्राफ भी लगातार ऊंचाई पकड़ रहा है .

जिम्मेदारियों की पिलाई गई घुटी अब काम भी करने लगी है..

चतरा के नव पदस्थापित सिंघम एसपी ऋषभ कुमार झा द्वारा अपने सहकर्मियों को कर्तव्य , दायित्व व जिम्मेदारियों के बखूबी निर्वाहन से संबंधित पिलाई गई मीठी घुटी और तस्करों उग्रवादियों और अपराधियों के नाम खुला ऐलान का असर भी दिखने लगा है इनके पदस्थापन के एक सप्ताह के भीतर ही जिला के राजपुर ,प्रतापपुर ,कुंदा ,
लावालौंग और कान्हाचट्टी थाना की पुलिस द्वारा अंतर्राष्ट्रीय बाजार में करोड़ मूल्य का दो क्विंटल से ऊपर गीला अफीम के साथ-साथ कई क्विंटल पोस्ता दाना ,डोडा व भूसी बरामद किया जा चुका है . इसका भी इस्तेमाल नशे के लिए किया जाता है .करीब एक दर्जन तस्कर व अफीम व्यवसाई पुलिस हत्थे चढ़े हैं .मजे की बात यह है कि पुलिस आरोपी फरार तस्करों व व्यवसायियों को पाताल से भी ढूंढ निकलने का दावा व ताल ठोक रही है . तस्करों उग्रवादियों अपराधियों के विरुद्ध अभियान बदस्तूर चालू है .एसपी स्वयं इसका मानिटरिंग कर रहे हैं .
पल-पल की खबर रख रहे हैं . इससे विशेष रूप से थाना में कुर्सी संभाले अधिकारियों की स्थिति रैन बिना चैन कहां का बनना और अफीम तस्करों में खलबली मचना स्वभाविक है .

2016 बैच के आईपीएस अधिकारी है ऋषभ कुमार झा..

आम प्रतिक्रिया है कि 2016 यूपीएससी की परीक्षा ने कई दबंग व सिंघम आईपीएस तोहफा में दिया है .इसी में चतरा के एसपी ऋषभ कुमार झा और बिहार कैडर के एसपी लिपि सिंह आदि शामिल है उदाहरण सामने है कि बिहार के बाहुबली अनंत सिंह को लिपि सिंह की दबंगता निर्भीकता के आगे कानून की अहमियत व भाषा समझने के लिए मजबूर होना पड़ा . इसी तरह 2016 बैच के आईपीएस चतरा के सिंघम एसपी ऋषभ कुमार झा की रफ्तार यही बनी रही और इनके सहकर्मी इनके बताएं नक्शे कदम पर चलते रहे ,तो ऐतिहासिक चतरा की धरती से मानवीय जीवन में जहर घोल रहा अफीम का कारोबार व अफीम के लिए विशेष रुप से वन क्षेत्र भूमि के हजारों एकड़ पर हो रही पोस्ता की अवैध खेती जड़ मूल से समाप्त हो या ना हो यह तो वक्त पर निर्भर है .किंतु इस काले व्यवसाय ,उग्रवादी अपराधी गतिविधियोन का अर्श से फर्श पर पहुंचना तय माना जा रहा है .

ध्यातव्य है कि चतरा के विभिन्न थाना क्षेत्रों से इतने बड़े अदद में बरामद हो रहे गीला अफीम , नशीला पोस्ता डोडा व भूसी कई जमीनदोज रहस्यों का खुलासा तो कर ही रहा है साथ ही आने वाले समय के लिए एक संकेत भर भी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here