अंकशास्त्र विद्या  में अंकों का विशेष स्थान होता है. अंकशास्त्र में हर व्यक्ति का एक अंक मुख अंक होता है जिसे अंक स्वामी बोलते हैं और इसी अंक स्वामी के द्वारा आपके भाग्य का आंकलन किया जाता है। आपके करियर,  व्यवसाय, नौकरी, प्रेम और आपके जीवन की हर छोटी व बड़ी बात को, यह आपका स्वामी अंक आपके लिए तय करता है, तो क्या आप जानते हैं अपना अंक स्वामी? या आप जानना चाहते हैं कि कैसे यह आप पर अपना प्रभाव डालता है? दैनिक खबर की ऐस्ट्रो सर्विस की पहल पराविधा के सहयोग से है. पराविधा ( www.paravidha.net) एस्ट्रोलॉजी के क्षेत्र मे भरोसे और विश्वास का नाम ,जानिए अंकशास्त्र की सही और सटीक जानकारी.

अगस्त 2020 अंक ज्योतिषी

अंक 1 (जन्म तारीख 1,10,19, 28)

1 – अगर आप का जन्म 1, 19 या 28 तारीख को हुआ है तो आप 1 अंक के जातक हैं और सूर्य ग्रह से संचालित हैं। क्योंकि अगस्त का महीना नंबर 8 को प्रतिनिधित्व करता है और अंक ज्योतिष में नंबर 8 शनि ग्रह का कारक ग्रह माना गया है। इस वजह से इस महीने आपके ऊपर सूर्य और शनि ग्रह के योग संयोग का फल आपको मिलने वाला है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सूर्य और शनि को परस्पर विरोधी ग्रह माना गया है, इसी वजह से सूर्य और शनि का योग सूर्य के प्रकाश पर ग्रहण लगाने वाला योग माना जा सकता है। सूर्य चूंकि आत्मा का कारक ग्रह भी है इस वजह से इस महीने आपकी आत्मशक्ति पर ग्रहण लग सकता है। मन में द्वंद की स्थिति उत्पन्न हो सकती है जिससे आपकी निर्णय क्षमता प्रभावित हो सकती है। इस महीने का पूरा लाभ लेने के लिए यह जरूरी है कि आप द्वंद में ना पड़ें और द्वंद से बचने के लिए अपने आप को सिर्फ और सिर्फ वर्तमान के कार्य में केंद्रित करें। महिलाओं को इस महीने नकारात्मकता से विशेष बचाव अपेक्षित है, अन्यथा छोटी-छोटी बातों पर आपका आवेशित होना आपके पूरे परिवार के माहौल को खराब कर सकता है। दांपत्य जीवन और लव लाइफ के दृष्टिकोण से देखा जाए तो इस महीने आपके अंदर अहम की उत्पत्ति आपके रिश्ते को प्रभावित कर सकती है, आपसी रिश्तों में छोटी-छोटी बातों को ज्यादा तूल ना दें। विद्यार्थियों और प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी कर रहे युवाओं के लिए प्रारंभिक 15 दिन अनावश्यक द्वंद वाले साबित हो सकते हैं, जिससे इनकीं पढ़ाई भी प्रभावित हो सकती है, पर अगले 15 दिनों में पढ़ाई की रफ्तार पुनः वापस आ जाएगी. स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से आंखों से जुड़ी समस्या और नस-नाड़ी से जुड़ी समस्या आपको परेशान कर सकती है, सतर्क रहें.

उपाय – सूर्योदय से पहले उठें, सूर्य को जल दें और सूर्य मंत्र का जप करें.
भाग्य का साथ – 65%
शुभ दिन – रविवार, मंगलवार, बुधवार
शुभ रंग – लाल
शुभ दिशा – पूर्व

अंक 2 (जन्म तारीख 2,11,20,29)

अंक 2 – अगर आप का जन्म 2, 20 या 29 तारीख को हुआ है तो आप 2 अंक के जातक हैं और चंद्रमा ग्रह से संचालित हैं। क्योंकि अगस्त का महीना नंबर 8 को प्रतिनिधित्व करता है और अंक ज्योतिष में है नंबर 8 शनि ग्रह का कारक ग्रह माना गया है। इस वजह से इस महीने आपके ऊपर चन्द्र और शनि ग्रह के योग संयोग का फल आपको मिलने वाला है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार चंद्रमा और शनि ग्रह को परस्पर विरोधी ग्रह माना गया है, इसी वजह से चंद्रमा और शनि का योग एक दृष्टिकोण से ग्रहण योग के रूप में भी जाना जा सकता है। अतः इस महीने चंद्रमा के प्रकाश को यानी आपके मन के प्रकाश को शनि अपनी कालिमा से ढक लेगा, जिसका असर यह होगा कि पूरे महीने आप मानसिक विचलन और मानसिक विकेंद्रीकरण में उलझे रहेंगे। इसलिए जरूरी है कि इस महीने आप मानसिक शांति पर ध्यान दें और अनावश्यक के तर्क वितर्क से जितना संभव हो अपने आप को दूर रखें। नौकरी करने वाले लोग अपनी कार्य क्षमता का पूरा उपयोग करेंगे पर पर इनके वरिष्ठों द्वारा बनाए गए मानसिक दबाव के कारण इनकी मानसिक शांति भंग होती रहेगी। व्यापार के दृष्टिकोण से ऑनलाइन बिजनेस करने वालों के लिए इस महीने लाभ की संभावना बनती नजर आ रही है। दांपत्य जीवन के दृष्टिकोण से अनावश्यक कलह पूरे महीने घर का वातावरण खराब कर सकती है। स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से कब जनित समस्याएं एवं मौसम बदलाव से होने वाले रोग से सतर्कता बरते।

उपाय – प्रत्येक सोमवार और पूर्णिमा को सत्यनारायण स्वामी का पाठ करें.
भाग्य का साथ – 55%
शुभ दिन – सोमवार, गुरुवार
शुभ रंग – सफेद, क्रीम
शुभ दिशा – उत्तर-पश्चिम

अंक 3 (जन्म तारीख 3, 12, 21, 30)

अंक 3 – अगर आप का जन्म 3, 12,21 या 30 तारीख को हुआ है तो आप 3 अंक के जातक हैं और गुरु ग्रह से संचालित हैं। क्योंकि अगस्त का महीना नंबर 8 को प्रतिनिधित्व करता है और अंक ज्योतिष में है नंबर 8 शनि ग्रह का कारक ग्रह माना गया है। इस वजह से इस महीने आपके ऊपर गुरू और शनि ग्रह के योग संयोग का फल आपको मिलने वाला है।ज्योतिष के अनुसार बृहस्पति और शनि के बीच ना ही मित्रता है और ना ही शत्रुता, यह दोनों ही ग्रह एक दूसरे के लिए सम भाव रखते हैं। यानी कि अगस्त का यह महीना अंक 3 के जातकों के लिए सामान्य ही बीतने वाला है। आपके सभी काम सामान्य गति से चलते रहेंगे और अपने मुकाम पर पहुंचते चले जाएंगे। पुराने दोस्तों के संपर्क में आने से आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा का उद्भव होगा। आपकी लव लाइफ खुशनुमा बीतेगी और दांपत्य जीवन में पति पत्नी के बीच आपसी तालमेल भी बहुत बढ़िया होगा। चूंकि गुरु शिक्षा का कारक ग्रह है और सर और शनि दंड का कारक ग्रह, इस विचार से शिक्षा, न्यायपालिका और प्रशासन से जुड़े लोगों के लिए यह महीना काफी महत्वपूर्ण बीतने की संभावना है। व्यापार के दृष्टिकोण से कपड़े और माइंस से जुड़े व्यापारियों को लाभ मिलने की संभावना है। स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से लीवर और वायु जनित समस्या महीने के अंत अंत में परेशान कर सकती है, सतर्कता बरतें।
उपाय – प्रत्येक गुरुवार विष्णुसहस्त्रनाम का पाठ करें.
भाग्य का साथ – 75%
शुभ दिन – गुरुवार, शनिवार
शुभ रंग – पिला, ब्लू
शुभ दिशा – उत्तर-पूर्व

अंक 4 (जन्म तारीख 4, 14, 22, 31)

अंक 4 – अगर आप का जन्म 4, 13,22 या 31 तारीख को हुआ है तो आप 4 अंक के जातक हैं और राहु ग्रह से संचालित हैं। क्योंकि अगस्त का महीना नंबर 8 को प्रतिनिधित्व करता है और अंक ज्योतिष में नंबर 8 शनि ग्रह का कारक ग्रह माना गया है। इस वजह से इस महीने आपके ऊपर राहु और शनि ग्रह के योग संयोग का फल आपको मिलने वाला है। शनि और राहु का यह योग अंक 4 के जातकों के लिए इस महीने रहस्यमयी साबित होने वाला है। एक ओर जहां असंभव से प्रतीत होने वाले काम अनायास किसी के सहयोग से निष्पादित होते चले जाएंगे, वहीं दूसरी ओर आसान से दिखने वाले काम दुष्कर से प्रतीत होने लगेंगे। वैसे लोग जिनके साथ पिछले कई दिनों से आपके संबंध तीखे चल रहे थे, वे लोग फिर आपके सामने दोस्ती का हाथ बढ़ाएंगे। घर में मांगलिक कार्य से जुड़ी कोई शुभ सूचना आ सकती है, जिससे उन माता-पिता को राहत मिलेगी जो अपने संतान की शादी के लिए परेशान थे। लव लाइफ में निश्चिंतता रहेगी और एक दूसरे में पूर्ण समर्पण का भाव भी बना हुआ रहेगा। दांपत्य जीवन में परिवार के किसी अन्य सदस्य के द्वारा कटुता फैल सकती है, इसलिए पारिवारिक तर्क वितर्क से जितना संभव हो खुद को दूर रखें। स्टूडेंट्स इस महीने थोड़े कंफ्यूज रहेंगे, इस वजह से उनकी पढ़ाई बाधित हो सकती है, मन को भटकने ना दें और वर्तमान के कार्य कार्य पर खुद को केंद्रित करें। कैरियर के दृष्टिकोण से धीरे-धीरे ही सही पर उपलब्धियों भरा महीना साबित होगा। के दृष्टिकोण से इन्फेक्शन जनित रोगों से विशेष सतर्कता बरते।

उपाय – प्रत्येक शनिवार तंत्रोक्त देवी सूक्तम का पाठ करें.
भाग्य का साथ – 70%
शुभ दिन – शनिवार
शुभ रंग – डेनिम ब्लू, ग्रे
शुभ दिशा – दक्षिण

अंक 5 (जन्म तारीख 5, 14, 23)


अंक 5 – अगर आप का जन्म 5, 14 या 23 तारीख को हुआ है तो आप 5 अंक के जातक हैं और बुध ग्रह से संचालित हैं। क्योंकि अगस्त का महीना नंबर 8 को प्रतिनिधित्व करता है और अंक ज्योतिष में नंबर 8 शनि ग्रह का कारक ग्रह माना गया है। इस वजह से इस महीने आपके ऊपर बुध और शनि ग्रह के योग संयोग का फल आपको मिलने वाला है। बुध और शनि के बीच का तालमेल अच्छा ही माना जाता है। इस विचार से अंक 5 के जातकों के लिए अगस्त का यह महीना अच्छा फल देने वाला साबित होगा। आपके रुके सारे कार्य पूरे होते चले जाएंगे और आय के नए स्रोत भी खुलेंगे। व्यापारी वर्ग के लोगों के लिए लाभ भरा महीना साबित होगा। आपकी लव लाइफ भी इस महीने शानदार बितने वाली है, आप के संबंध और भी ज्यादा प्रगाढ़ होंगे और आप दोनों के बीच पुराने गिले-शिकवे भी मिट जाएंगे। दांपत्य जीवन में पिछले कई दिनों से चले आ रहे तकरार प्यार में बदलेंगे। स्टूडेंट्स अपने कैरियर को लेकर सीरियस होंगे और बड़े ही सुनियोजित तरीके से अपने पढ़ाई में अपने आप को केंद्रित करेंगे। स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से स्नायु तंत्र से जुड़ी समस्या आपको महीने के अंतिम दिनों में परेशान कर सकती है, सतर्कता बरतें।

उपाय – प्रत्येक बुधवार कन्या पूजन करके हरी वस्तुओं का दान करें.
भाग्य का साथ – 80%
शुभ दिन – बुधवार
शुभ रंग – लाइट ग्रीन
शुभ दिशा – उत्तर

अंक 6 (जन्म तारीख 6, 15, 24)

अंक 6 – अगर आप का जन्म 6, 15 या 24 तारीख को हुआ है तो आप 6 अंक के जातक हैं और शुक्र ग्रह से संचालित हैं। क्योंकि अगस्त का महीना नंबर 8 को प्रतिनिधित्व करता है और अंक ज्योतिष में नंबर 8 शनि ग्रह का कारक ग्रह माना गया है। इस वजह से इस महीने आपके ऊपर शुक्र और शनि ग्रह के योग संयोग का फल आपको मिलने वाला है। शुक्र और शनि के बीच का तालमेल अच्छा ही माना जाता है। शुक्र और शनि का यह संयोग अंक 6 के जातकों के लिए अगस्त के महीने में कई शुभ समाचार लेकर आएगा। लॉकडाउन के कारण पिछले कई महीनों से जो काम खराब होते जा रहे थे वह इस महीने अपने मुकाम तक पहुंचते नजर आएंगे। क्योंकि शुक्र ग्रह भोग कारक ग्रह है और शनि के साथ यह योग करके इस महीने आपके जीवन में भोग विलासिता पूरे संसाधन को उपलब्ध कराएगा. अपने पार्टनर के साथ चले आ रहे तकरार प्यार में बदलती जाएगी, दांपत्य जीवन के दृष्टिकोण से भी यह महीना आपसी तालमेल भरा साबित होगा। स्टूडेंट्स पढ़ाई कम एंजॉयमेंट ज्यादा करेंगे पर महीने के अंतिम 15 दिनों में वो कैरियर के प्रति सीरियस होते चले जाएंगे। नौकरी करने वालों को अपने वरिष्ठों से सम्मान प्राप्त होगा और व्यापार करने वाले लोगों को मुनाफा। सिनेमा उद्योग से जुड़े लोग इस महीने राहत की सांस लेंगे। अगर प्रॉपर्टी से जुड़े कोई विवाद आपको पिछले कई दिनों से परेशान करते आ रहे हैं तो खुश हो जाइए इस महीने आपकी यह समस्या भी समाप्त हो जाएगी। स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से यूरिक एसिड और डायबिटीज पर विशेष सतर्कता बरतें।
उपाय – प्रत्येक शुक्रवार श्रीसूक्त का पाठ करें.
भाग्य का साथ – 80%
शुभ दिन – शुक्रवार, शनिवार
शुभ रंग – सफेद, नीला
शुभ दिशा – दक्षिण-पूर्व

अंक 7 (जन्म तारीख 7, 16, 25)

अंक 7 – अगर आप का जन्म 7, 16 या 25 तारीख को हुआ है तो आप 7 अंक के जातक हैं और केतु ग्रह से संचालित हैं। क्योंकि अगस्त का महीना नंबर 8 को प्रतिनिधित्व करता है और अंक ज्योतिष में नंबर 8 शनि ग्रह का कारक ग्रह माना गया है। इस वजह से इस महीने आपके ऊपर केतु और शनि ग्रह के योग संयोग का फल आपको मिलने वाला है। केतु चूंकि मानसिक संताप का कारक ग्रह है, इसलिए अंक 7 के जातकों के लिए अगस्त का यह महीना कुछ मानसिक विचलन भरा साबित हो सकता है। यद्यपि अपने काम के प्रति समर्पण चरम पर होंगे, पर अपने वरिष्ठों का सहयोग ना प्राप्त होने के वजह से मन कुछ विचलित सा रह सकता है। बात अगर लव लाइफ की हो तो हर 2 दिन पर झगड़ा और एक दूसरे के प्रति संदेह की भावना रिश्ते को खराब कर सकती है। विवाहित लोगों का दांपत्य जीवन सामान्य रहेगा पर 11 से 19 तारीख तक की अवधि में एक दूसरे से अनावश्यक तर्क से बचें, अन्यथा छोटी बात भी विवाद का कारण बन सकती है। स्टूडेंट्स अपने कैरियर को लेकर उधेड़बुन में रह सकते हैं जिससे उनकी वर्तमान की पढ़ाई प्रभावित हो सकती है। के दृष्टिकोण से बीपी और मधुमेह की समस्या से सतर्कता बरतें।

उपाय – प्रत्येक दिन खाने का पहला हिस्सा निकाल काले कुत्ते के लिए निकाल दिया करें.
भाग्य का साथ – 65%
शुभ दिन – मंगलवार
शुभ रंग – लाल, काला
शुभ दिशा – दक्षिण

अंक 8 (जन्म तारीख 8, 17, 26)


अंक 8 – अगर आप का जन्म 8, 17 या 26 तारीख को हुआ है तो आप 8 अंक के जातक हैं और शनि ग्रह से संचालित हैं। क्योंकि अगस्त का महीना नंबर 8 को प्रतिनिधित्व करता है और अंक ज्योतिष में नंबर 8 शनि ग्रह का कारक ग्रह माना गया है। इस महीने आपके अंक का तालमेल महीने के अंक के साथ जबरदस्त बन रहा है, क्योंकि आपका अंक भी 8 है और महीने का अंक भी 8 हीं है। अंको का यह तालमेल पूरे महीने आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह करवाएगी, जिसके फलस्वरूप आप बड़े से बड़े काम को भी इस महीने अंजाम दे पाएंगे। दांपत्य जीवन में चली आ रही कटुता इस महीने समाप्त होगी और बिल्कुल नए सिरे से संबंधों में प्रगाढ़ता आएगी। माइनिंग ट्रांसपोर्टिंग और राजनीति से जुड़े लोगों के लिए यह महीना बहुत कुछ देकर जाएगा। प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों के लिए यह महीना कोई खुशखबरी देकर जाएगा। इस महीने शेयर और सट्टे का काम से बचें अन्यथा भारी नुकसान का सामना करना पड़ सकता है। स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से पूरे महीने नस नाड़ी और वायु जनित समस्याओं से सतर्कता बरतें।

उपाय – प्रत्येक शनिवार को कासली मंदिर में नारियल चढ़ाएं एवं घी का एक दीपक भी जलाएं.
भाग्य का साथ – 80%
शुभ दिन – शनिवार
शुभ रंग – नीला
शुभ दिशा – पश्चिम

अंक 9 (जन्म तारीख 9, 18, 27)

अंक 9 – अगर आप का जन्म 9, 18 या 27 तारीख को हुआ है तो आप 9 अंक के जातक हैं और मंगल ग्रह से संचालित हैं। क्योंकि अगस्त का महीना नंबर 8 को प्रतिनिधित्व करता है और अंक ज्योतिष में नंबर 8 शनि ग्रह का कारक ग्रह माना गया है। इस महीने अंक 9 के जातकों पर शनि – मंगल के योग संयोग का फल आपपर पड़ने वाला है। मंगल और शनि का योग आग और हवा का योग माना जाता है। यानी जिस तरह एक चिंगारी को हवा देने से वह आग का बड़ा रूप ले लेती है, ठीक उसी प्रकार यह योग रहने पर व्यक्ति के जीवन में छोटी-छोटी बातें बातें भी विकराल रूप धारण कर लेते हैं। इसलिए अंक 9 के जातकों को इस महीने अनावश्यक तर्क वितर्क से बचना चाहिए। आपके कार्यक्षेत्र में इस महीने सफलता तो प्राप्त होगी पर अपने सहकर्मियों के साथ वाद विवाद से आपको बचना चाहिए। दांपत्य जीवन में छोटी-छोटी बातें तनाव का कारण बन सकती है, जितना संभव हो तर्क से बचें। वैसे स्टूडेंट्स जो इंजीनियरिंग और मेडिकल की तैयारी में लगे थे उन्हें इस महीने कोई शुभ सूचना प्राप्त हो सकती है। स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से नस नाड़ी और पेट संबंधित समस्याओं से विशेष सतर्कता बरतें।

उपाय – प्रत्येक मंगलवार हनुमान चालीसा का पाठ करें।.
भाग्य का साथ – 70%
शुभ दिन – मंगलवार
शुभ रंग – लाल
शुभ दिशा – दक्षिण

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here